ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ

रोगाणु बहुत से माध्यमों द्वारा फ़ैल सकते हैं। उनमे से एक माध्यम आपका हाथ भी हो सकता है। आप दिन भर में कई बार कई तरह को छूटे है,उन्हें हाथ लगते है, हाथो द्वारा उनका निरिक्षण करते है। साथ ही भारतीय होने के नाते हम कुछ भारतवासी तो हाथ से खाना भी खाते हैं। उन्ही हाथो से हम अपने मुँह को भी छूते हैं।

इसलिए यह भी संक्रमण के लिए सबसे आसान तरीका बन जाता है एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलने का। खासतें या छींकते समय भी हम अपना हाथ अपने मुँह पे लगते है, जिससे बिमारी या संक्रमण फैलने की सम्भावना बढ़ जाती है। यदि आप संक्रमण से बचना चाहते है और इसे फैलने से रोकना चाहते है तो हम यहाँ पे आपको सामान्य हाथ धोने का तरीका बता रहे है, जिसे आप अपना कर संक्रमण को रोकने में सहायक हो सकते है।

ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ
ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ

हाथों को कब धोएं

संक्रमण से बचने के लिए हाथों को स्वच्छ रखना बहुत जरुरी है। लेकिन पहला समय यह उठता है की वह कौन सा समय है की आप अपने हाथों के लिए कौन सा समय चुनते है जिससे रोगाणु का खतरा ना हो और बीमारी से बचा जा सके। पहली बात तो आपको अपने हाथों को बार-बार धोने की आदत बना लेनी चाहिए।

आपको यह ध्यान रखना चाहिए की किसी भी चीज़ का सेवन करने से पहले आपको अपने हाथों को धोना हैं । भोजन करने से पहले और भोजन करने के बाद आपको अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। इसके साथ ही यह भी ध्यान रखना चाहिए की भोजन पकाने से पहले और परोसने से पहले अपने हाथों को है।

ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ
ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ

इसी प्रकार से कुछ अन्य शर्तो के अनुसार भी आपको हाथ धोने चाहिए, जैसे किसी घाव या चोट को छूने से पहले और बाद में, जानवरों को छूने के बाद, नाक और मुँह पोंछने के बाद, कूड़ा छूने के बाद, वाश रूम से जाने के बाद, दवाई खाने के पहले, सफाई करने के बाद आदि। इन परिस्थितियों में हाथों की सफाई बहुत ही जरूरी है। इससे आप कीटाणुओ से सुक्षित रहेंगे।

किस प्रकार धोएं हाथ

किस प्रकार धोएं हाथ
किस प्रकार धोएं हाथ

केवल हाथ धोना ही काफी नहीं है। आपको अपने हाथों को ठीक प्रकार से धोना चाहिए, जिससे आप रोगाणुओं से सुरक्षित रह सकते है । हमेशा कोसिस करें की आप अपने हाथों को नल के नीचे चलते हुए पानी से धोएं ना की बाल्टी में रखे हुई पानी से।

हाथ धोते समय साबुन या हैंडवॉश का प्रयोग जरूर करें। हाथ धोते समय हाथों को रगड़-रगड़ कर हाथों के आगे पीछे और खासकर उंगलियों के बीच कम से कम 5-10 मिनट तक जरूर धोएं। जब हाथ धुल जाए तब उन्हें तौलिये से पोछें।

किस प्रकार धोएं हाथ
किस प्रकार धोएं हाथ

हम हर जगह तो साबुन लेके नहीं जा सकते इसलिए इन परिस्थितियों में हैंड सेनिटीज़र का प्रयोग करना चाहिए। हमेशा बहार जाते समय या यात्रा के दौरान हैंड सेनीज़ेर जरूर साथ रखना चाहिए। हैंड सेनिटीज़र का उपयोग करना आसान है,

इसके लिए आपको पानी की आवश्यकता नहीं होगी। लेकिन हैंड सेनिटीज़र खरीदते समय एक चीज़ का जरूर ध्यान रखना चाहिए की उसमे 60% अलकोहल जरूर मिला हुआ हो। इसके अलावा आप एंटीबैक्टीरिअल वाइप का भी इस्तेमाल कर सकते है क्योकि ये भी बहुत प्रभावी होता है।

नाखूनों की सफाई

नाखूनों की सफाई
नाखूनों की सफाई

हाथों की सफाई के साथ-साथ आपको इस बात का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए की आपके नाख़ून भी साफ़ और कटे हुई हो। इन्फेक्शन का खतरा गंदे नाख़ूने से जल्दी फैलता है।नाखुनो को बड़ा नहीं रखना चाहिए उन्हें नियत रूप से काटते रहने चाहिए, नियमित रूप से उनकी सफाई करने चाहिए जिससे बिमारी के बढ़ने की सम्भावना कम हो ।

ऐसे धोएं सही तरीके से हाथ

Leave a Reply