प्रधानमंत्री(पीएम) स्वनिधि योजना – PM SVANidhi Yojana in Hindi

PM SVANidhi Yojana in Hindi – सरकार में प्रधानमंत्री(पीएम) स्वनिधि योजना शुरू करने का ऐलान किया है। इस योजना का लाभ रेहड़ी पटरीवालो और छोटी मोती दूकान लगाकर आजीविका चलानेवालों को मिलेगा।प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत सरकार इन लोगो को अपना कारोबार शुरू करने में मदद करेगी। जिससे की रेहड़ी पटरी वाले बिना देर किये अपना काम धंधा फिर से शुरू कर सकेंगे।

सरकार ने इसे प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना या पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि का नाम दिया है। इस ख़ास क्रेडिट स्कीम के तहत 24 मार्च 2020 तक या उससे पहले वेंडिंग करने वाले 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स कर्ज ले सकते थे।

हम आपको ये बता दें की देश में कोरोना वायरस की महामारी के बीच देश में पीछे 2 महीने से भी ज्यादा समय से lockdown की परिस्थिति है। इसकी मर्डर उनलोगो को सबसे ज्यादा पड़ी है जो लोग सड़क के किनारे रेहड़ी पटरी लगाकर अपनी रोजी रोटी चलाते है। बाजार के बंद होने के वजह से इनका धंधा पूरी तरह से चौपट हो गया है। यहाँ तक की उनको दो वक़्त की रोटी भी नसीब नहीं हो पा रही है। ऐसी परिस्थिति में प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना उनलोगो के लिए मददगार साबित हो सकती है।

इस योजना का लाभ किसे मिल सकता है ?

सड़क किनारे रेहड़ी पटरी वाले या दूकान चलाने वालो को इस योजना का लाभ मिल सकता है। इस योजना का उद्देश्य ऐसे लोगो को कर्ज देना है जो सड़क किनारे दूकान लगाकर आपने रोजी रोटी चलते है और कोरोना वायरस की महामारी से उनका धंधा बंद पड़ा हुआ है।

फल,सब्जी,सैलून,लॉन्ड्री, और पान की दुकाने भी इस श्रेणी में शामिल की गयी है। इन्हे चलाने वाले भी यह लोन प्राप्त कर सकते है। ऐसा मन जा रहा है की इस योजना से 50 लाख लोगो को फायदा मिलेगा।

कितना कर्ज मिलेगा ?

इस योजना के तहत हर स्ट्रीट वेंडर 10,000 रूपये तक loan ले सकता है। इस पैसे को रेहड़ी पटरी वाले 1 साल के भीतर क़िस्त में लौटा सकते है। यह बहुत ही आसान शर्तो के साथ दिया जाएगा। इसमें किसी भी प्रकार की गारंटी की जरूरत नहीं होगी।

इस प्रकार यह एक प्रकार का अनसिक्योर्ड loan है। इस loan को time पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को 7 फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके खाते में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। इस स्कीम के तहत जुरमाना भरने का कोई प्रावधान नहीं है।

स्कीम के लिए 5000 करोड़

सरकार द्वारा स्ट्रीट वेंडर्स के लिए शुरू की गयी इस योजना के लिए 5000 करोड़ रूपये की मंजूरी दी गयी है। इसके लिए कोई शर्त नहीं होगी। यह बहुत ही आसान शर्तो के साथ मिल जाएगा।

वेंडर 10,000 रुपये तक के कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं।

  • यह एक वर्ष के कार्यकाल में मासिक किस्तों में देय होगा।
  • ऋण का समय पर / जल्दी चुकौती करने पर, 6% वार्षिक आधार पर प्रत्यक्ष लाभ अंतरण के माध्यम से 7% प्रति वर्ष की दर से ब्याज लाभार्थियों के बैंक खातों में जमा किया जाएगा।
  • ऋण के शीघ्र पुनर्भुगतान पर कोई जुर्माना नहीं होगा।
  • इस योजना से 50 लाख से अधिक लोग, जिनमें वेंडर, हॉकर, थेलावास आदि शामिल हैं, लाभान्वित होंगे।
  • पहली बार शहरी / ग्रामीण क्षेत्रों के स्ट्रीट वेंडर पहली बार शहरी आजीविका कार्यक्रम के लाभार्थी बने हैं।
  • पहली बार जमीनी स्तर पर उपस्थिति के कारण शहरी गरीबों के लिए एक योजना में MFI / NBFC / SHG बैंकों को अनुमति दी गई है।

स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि का उद्देश्य

आप सभी लोग को पता है कि पूरे देश में कोरोना वायरस महामारी का सक्रमण चल रहा है इस संक्रमण से लोगो को बचाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा पूरे देश में 30 जून तक लॉकडाउन कर दिया गया है। इसी कारण से देश के रेहड़ी-पटरी वालों ,और ठेले पर सामान बेचने वाले अपना जीवन गुजारा करने के लिए काम नहीं कर पा रहे है ।

जिसकी वजह से उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है इस समस्या को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना को शुरू करने की घोषणा की है | स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत रेहड़ी पटरी वालो को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा लोन मुहैया कराया जाए । इस योजना के ज़रिये रेहड़ी पटरी वालो को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाना है । इस योजना के ज़रिये गरीब लोगो की स्थिति में सुधार करना है।

इस योजना की कुछ ख़ास बातें

  • मोबाइल ऐप और पोर्टल पर निर्भर आवेदन प्रक्रिया।
  • इस loan के लिए किसी प्रकार की गारंटी की जरूरत नहीं होगी।
  • एक साल के लिए १०,००० तक शुरूआती कर्ज दिया जाएगा।
  • समय पर या उससे पहले कर्ज के भुगतान पर फीसदी की ब्याज की सब्सिडी।
  • पात्र लेनदारों को छमाही आधार पर सब्सिडी का भुगतान किया जाएगा।
  • पहले loan के समय पर और जल्द भुगतान की स्थिति में अधिक loan की aligibility .
  • डिजिटल लें दें की रसीद या भुगतान पर मासिक कैशबैक की सुविधा भी है।

स्वनिधि योजना में आवेदन कैसे करे ?

देश के जो इच्छुक रेहड़ी और पटरी वाले लाभार्थी स्वनिधि योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा लाभ प्राप्त करना चाहते है तो उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना पड़ेगा। लेकिन आपको अभी थोड़ा इंतज़ार करना होगा, क्योकि अभी इस योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को शुरू नहीं किया गया है जैसे ही स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत सरकार द्वारा आवेदन की प्रक्रिया को शुरू किया जायेगा हम आपको बता देंगे।

इन सभी कार्यक्रमों के साथ मिल कर सभी हितधारकों और आईईसी गतिविधियों की क्षमता निर्माण के लिए वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम का पूरे देश में जून में शुभारंभ होने वाला है ,और जुलाई के महीने में लोन मिलना शुरू हो जाएगा। प्रारंभिक कार्यशील पूंजी ऋण प्राप्त करने के लिए बैंकों में ऑफलाइन आवेदन आप कर सकते हैं।

केबिनेट की बैठक में की गयी अन्य घोषणाएं

  • संकटग्रस्त छोटे और मध्यम उद्योगों को फायदा मिलेगा, साथ ही रोजगार के अपार अवसर सृजित भी होंगे | केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि MSMEs के लिए 50 हजार करोड़ रुपये के इक्कठी निवेश (Equity investment) की घोषणा की गई है।
  • ‘जय किसान‘ के मंत्र को आगे बढ़ाते हुए कैबिनेट ने अन्नदाताओं के हक में बहुत बड़े फैसले किया हैं। इनमें खरीफ की 14 फसलों के लिए लागत का कम से कम डेढ़ गुना एमएसपी देना सुनिश्चित किया गया है। साथ ही 3 लाख रुपये तक के शॉर्ट टर्म लोन चुकाने की अवधि भी बढ़ा दी गई है।
  • कृषि ऋण पर अब 31 अगस्त तक ब्याज छूट का लाभ मिलेगा।
  • एमएसएमई में शेयर लेकर सरकार अपनी भागीदारी देगी ।
  • सैलून, पान की दुकान और मोची को भी लाभ मिलेगा ।

PM SVANidhi Yojana in Hindi

Read More:-

This Post Has One Comment

Leave a Reply